Sain Samaj Name

(1) दिल्ली – नायी, नायी ब्राह्मण, सविता, सैन, बारबर ।
(2) उत्तरप्रदेश – नायी, नायी पांडे, पांडे ब्राह्मण, नायी ब्राह्मण ।
(3) पंजाब – नायी ब्राह्मण,राजा,महता, ठाकुर ।
(4) गुरुदास पुर – यजक, याज्ञिक,मोरासु उप्पिना,मारुनायी, कैकुलम और कही-कही पर शीलवंत ।
(5) राजस्थान – पडिहार, पंवार, देवडा, राठौर, वैधनाई, सैन ।
(6) अजमेर मेवाड – नायी,नायी ब्राह्मण, सैन,बारबर ।
(7) मारवाड – नेविनि,डोगरा ।
(8) बिहार – हज्जाम, नायी,नापित,ठाकुर, नायी ब्राह्मण, नायी सैन।
(9) मध्यप्रदेश – म्हाली, नायी ब्राह्मण ।
(10) ग्वालियर – नायी,नायी पांडे, नायी ब्राह्मण ।
(11) उडीसा – भद्री, बारिक, भंडारी।
(12) बंगाल – नापित, हज्जाम, नाऊ, नायी, सवितृ ब्राह्मण।
(13) गुजरात – वाणन्द, वालन्द।
(14) महाराष्ट्र – कैलासी,नायडॆ,खवास,महाल,मंगला,नायिन्दा।
(15) बंबई, बडौदा – बालन्द,नादिग,केलसी, नायी ब्राह्मण।
(16) आन्ध्रप्रदेश – चित्तूर,कडाया, गुंटूर कृष्णा, नैलोर ।
(17) हैदराबाद – न्हावी,मंगल, कैलासी, नायी ह्ज्जाम ।
(18) कर्नाटक – नायिन्द ।
(19) मद्रास – मरुथवर,कसूवन, भण्डारी,कबूठीयन, बारबर, नायी ब्राह्मण,मंगल, अम्बटन ।
(20) कोचीन – अम्ब्टन, मारायन, नायर, बेल किहल ।
(21) आसाम – नायी, चन्द्रवैध ।
(22) कश्मीर – ह्ज्जाम, नापित, भन्डारी, नायी ब्राह्मण।
(23) बिलोचिस्तान – नायी।
(24) वेदों में क्षौर कार के नाम – वायु सविता, ब्राह्मण,आदिती, पूंरब,नापित है।
(25) ऋग्वेद में – गामनी, न्ते, नय, नाय, और क्षौरकार को सविता कहा है।
(26) संक्र्‍त गंथों में – कुंतन, क्षुरौ, मुंडी, दिवाकीर्ति।

We also known as – Sain, Sen, Nai, सैन, सेन, नाई